October 2, 2022

अश्विनी कुमार पंकज

भारत के संसदीय लोकतंत्र के इतिहास में सेंट्रल इंडिया से जीतकर विधायिका में पहुंचने वाले पहले आदिवासी...
सन 60 के अंतिम दशक में हुई थी यह घटना। हालांकि उस समय वी. वी. गिरी राष्ट्रपति...
हूल के पहले और उसके बाद भी हमें भारतीय इतिहास में ऐसी किसी जनक्रांति का विवरण नहीं...
असम के चाय बागानों में हुई आजादी की लड़ाई में जो झारखंडी शामिल थे, जिन्होंने उन लड़ाइयों...
झारखंड की राजधानी में अवस्थित कांके का रांची पागलखाना इस मई को अपनी स्थापना के 100वें साल...
आज से 61 साल पहले जब लूथर तिग्गा ने ऋत्विक घटक की बांग्ला फिल्म ‘अजांत्रिक’ (1958) में...